Model Papers 2021 REET Model Test Paper

Hindi Teaching Method Related Model Paper For Competition (Part 2)

Hindi Teaching Method Related Model Paper Part -2 ( हिंदी शिक्षण विधियां से संबंधित ) 2021 Important Questions For Reet Patwar Si Second Grade PTET Bstc and Other Rajasthan Exam

For REET PATEAR SI BSTC ( DLED ) PTET SECOND GRADE VANPAL VANRAKSHAK and Other Rajasthan Government Job 2021 newsbyav.com Prepared The Hindi Teaching Method Related (Part 2) (हिंदी शिक्षण विधियां से संबंधित) Model Paper For Competiton Exams 2021

1.वाइगोत्स्की के विचारों पर आधारित कक्षा में ……. पर सबसे अधिक बल दिया जाता है।
(1) कविता दोहराने
(2) कहानी सुनने
(3) कार्य पत्रकों
(4) परस्पर अन्तः क्रिया

2.हमारी कक्षाओं में बच्चे भिन्न-भिन्न भाषिक पृष्ठभूमि से आते है, अतः
(1) उनकी भाषाओं को भी कक्षा में सम्मान देना अनिवार्य है
(2) उनकी भाषाओं को सीखना सभी शिक्षार्थियों के लिए अनिवार्य है
(3) भाषा की पाठ्य-पुस्तक में उनकी सभी भाषाओं के शब्द, वाक्य होना अनिवार्य है
(4) उनकी सभी भाषाओं की जानकारी शिक्षक के लिए अनिवार्य है

3.इनमें से प्राथमिक स्तर पर भाषा-आकलन का सर्वाधिक उचित तरीका है
(1) किसी पाठ की पाँच पंक्तियाँ पढ़वाना
(2) बच्चों को चित्र-वर्णन और प्रश्न पूछने के अवसर देना
(3) बच्चों से पत्र लिखवाना
(4) बच्चों से प्रश्नों के उत्तर लिखवाना

4.कौन-सा प्रश्न बच्चों की भाषा-क्षमता का सही आकलन करेगा?
(1) लड़की ने किसके दाम नहीं बताए?
(2) लड़की टोकरी में क्या बेच रही थी?
(3) यदि तुम आम बेचोगे तो उसके कितने दाम लोगे और क्यों?
(4) आजकल आम का दाम कितना है?

5.प्राथमिक स्तर पर बच्चों के लिए बाल साहित्य के चयन का मुख्य आधार क्या होना चाहिए?
(1) छोटी रचनाएँ
(2) रोचक विषय वस्तु
(3) रंगीन चित्र
(4) सरल जानकारी

6.बच्चों की मौखिक भाषा का सतत आकलन करने का सबसे बेहतर तरीका है-
(1) शब्द पढ़वाना
(2) प्रश्नों के उत्तर पूछना
(3) विभिन्न सन्दर्भो में बातचीत
(4) सुने हुए को दोहराने के लिए कहना

7.भाषा में सतत और व्यापक आकलन का उद्देश्य है-
(1) वर्तनी की अशुद्धि के बिना लिखने की क्षमता का आकलन
(2) भाषा के व्याकरण का आकलन करना
(3) भाषा के मौखिक और लिखित रूपों के प्रयोग की क्षमता का आकलन
(4) पढ़कर समझने की क्षमता का आकलन

8.भाषा-कक्षा में विभिन्न दृश्य-श्रव्य साधनों के उपयोग का उद्देश्य नहीं है-
(1) आधुनिक तकनीक को कक्षा में लाना
(2) सभी प्रकार के बच्चों की आवश्यकताओं का ध्यान रखना
(3) सीखने-सिखाने की प्रक्रिया को रुचिकर बनाना
(4) विद्यालय-प्रमुख के निर्देशों का पालन करना

9.पाठ्य-पुस्तक की भाषा
(1) बच्चों की घर व समुदाय की भाषा से मिलती- जुलती होनी चाहिए
(2) तत्सम प्रधान होनी चाहिए
(3) तद्भव प्रधान होनी चाहिए
(4) अधिकाधिक कठिन शब्दों से युक्त होनी चाहिए

10.प्राथमिक स्तर पर भाषा सिखाने’ से तात्पर्य है-
(1) भाषा वैज्ञानिक तथ्य स्पष्ट करना
(2) भाषा का व्याकरण सिखाना
(3) उच्चस्तरीय साहित्य पढ़ाना
(4) भाषा का प्रयोग सिखाना

11.घर की भाषा और विद्यालय में पढ़ाई जाने वाली भाषा
(1) सदैव टकराहट से गुजरती हैं
(2) सदैव समान होती हैं
(3) समान हो सकती हैं
(4) सदैव अलग होती हैं

12. प्राथमिक स्तर पर हिन्दी ‘भाषा-शिक्षण’ के लिए सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण है-
(1) भाषा प्रयोग के अवसर
(2) पाठ्य-पुस्तक
(3) उच्चस्तरीय तकनीकी यन्त्र
(4) व्याकरणिक नियमों का स्मरण

13.हिन्दी प्रयोग के विविध रूपों को जानने के लिए सर्वाधिक उपयोगी साधन हो सकता है-
(1) बाल साहित्य का विविध उपयोग
(2) शिक्षण की विधियों का सम्पूर्ण ज्ञान
(3) सुन्दर ढंग से छपी पुस्तकें
(4) उच्चस्तरीय लेखन सामग्री

14.कक्षा एक और दो’ के बच्चों के लिए आप किस तरह की कहानी का चयन करेंगे?
(1) जो बहुत छोटी हो
(2) जिसमें बहुत सारे पात्र हों हिए
(3) जिसमें दो ही पात्र हों है-
(4) जिसके शब्दों, वाक्यों और घटनाओं के वर्णन की शैली चित्रात्मक हो

15.प्राथमिक स्तर पर भाषा शिक्षण की प्राथमिकता
होनी चाहिए-

(1) केवल बोलकर पढ़ने की क्षमता विकसित करना
(2) कविता और कहानी के द्वारा केवल श्रवण कौशल का विकास करना
(3) बच्चों की रचनात्मकता और मौलिकता को पोषित
(4) बच्चों की चित्रांकन क्षमता का विकास करना

Hindi Teaching Method Related Model Paper (Part 2) 2021 QnA Model Paper (हिंदी शिक्षण विधियां से संबंधित)

16.पढ़ने का प्रारम्भ
(1) वर्णमाला से होना चाहिए
(2) कहानियों से होना चाहिए
(3) कविताओं से होना चाहिए
(4) अर्थपूर्ण सामग्री से होना चाहिए

17.भाषा के बारे में कौन-सा कथन उचित है?
(1) भाषा अनिवार्यतः लिखित होती है
(2) भाषा एक नियमबद्ध व्यवस्था है
(3) भाषा व्याकरण का अनुसरण करती है
(4) भाषा और बोली में कभी भी कोई भी सम्बन्ध नहीं होता है

18.प्राथमिक कक्षाओं में ‘रोल प्ले’ (भूमिका निर्वाह) का उद्देश्य होना चाहिए-
(1) बच्चों को अभिनय सिखाना
(2) एक पद्धति के रूप में इसका उपयोग करना
(3) विभिन्न सन्दर्भो में भाषा प्रयोग के अवसर प्रदान करना
(4) बच्चों को अनुशासित रखना

19.भाषा हमारे परिवेश में बिखरी मिलती है। यह कथन किस पर लागू नहीं होता?
(I) भाषा प्रयोगशाला
(2) अखबार
(3) विज्ञान
(4) साइनबोर्ड

20.कक्षा में कुछ बच्चे लिखते समय वर्तनी सम्बन्धी त्रुटियाँ करते हैं। एक भाषा शिक्षक के रूप में आप क्या करेंगे?

(1) शब्दों का सही रूप लिखते हुए बच्चों को दोनों तरह के शब्दों का अवलोकन करके अन्तर पहचानने का अवसर देंगे
(2) उन्हें सख्त निर्देश देंगे कि वे आगे से गलती न करें
(3) उनकी त्रुटियों पर बिल्कुल ध्यान नहीं देंगे
(4) उनसे शब्दों को बीस बार लिखने के लिए कहेंगे

21.भाषा सीखने-सिखाने का उद्देश्य हैं-
(1) अपनी बात की पुष्टि के लिए तर्क देना
(2) विभिन्न स्थितियों में भाषा का प्रभावी प्रयोग करना
(3) अपनी बात कहना सीखना
(4) दूसरों की बात समझना सीखना

22.एक भाषा-शिक्षक के लिए सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण म
(1) बच्चों को भाषा-प्रयोग के अवसर उपलब्ध कराना
(2) भाषा की त्रुटियों के प्रति कठोर रवैया अपनाना
(3) भाषा की पाठ्य-पुस्तक
(4) भाषा का आकलन

23.भाषा का प्रयोग
(1) जीवन के विभिन्न सन्दर्भो में होता है
(2) केवल परीक्षा में होता है
(3) केवल पाठ्य-पुस्तक में होता है
(4) केवल मुद्रित सामग्री में होता है

24.भाषा स्वयं में
(1) एक जटिल चुनौती है
(2) एक विषय मात्र है
(3) सम्प्रेषण का एकमात्र साधन है
(4) एक नियमबद्ध व्यवस्था है

25.भाषा की कक्षा में एक शिक्षक बच्चे से क्या अपेक्षा करता है?
(1) बच्चे अपनी मातृ-भाषा का बिल्कुल भी प्रयोग न करें
(2) बच्चे सवालों के बंधे-बंधाएँ जवाब न दें
(3) बच्चे सवालों के बंधे-बंधाएँ जवाब दें
(4) संस्कृतनिष्ठ भाषा में ही जवाब दें

26.बच्चे अपने परिवेश से स्वयं भाषा अर्जित करते हैं। इसका एक निहितार्थ यह है कि
(1) बच्चों को अत्यन्त सरल भाषा का परिवेश उपलब्ध कराया जाए
(2) बच्चों को बिल्कुल भी भाषा न पढ़ाई जाए
(3) बच्चों को समृद्ध भाषिक परिवेश उपलब्ध कराया जाए
(4) बच्चों को केवल लक्ष्य भाषा का ही परिवेश उपलब्ध कराया जाए

27. भाषा की पाठ्य-पुस्तकें
(1) भाषा सीखने की एक-मात्र संस्थान हैं
(2) अभ्यासपरक ही होनी चाहिए
(3) साधन हैं
(4) साध्य हैंबच्चों की भाषा-सम्बन्धी क्रमिक प्रगति का

28.लेखा-जोखा रखना. ..से सम्भव है।
(1) पोर्टफोलियो
(2) उत्तर-पुस्तिकाओं
(3) लिखित परीक्षा
(4) मौखिक परीक्षा

29.पत्र-पत्रिकाएँ भाषा सीखने में
(1) त्रुटियों को बढ़ावा देती हैं
(2) बड़ों के पढ़ने की वस्तु हैं
(3) साधक हैं
(4) बाधक हैं

30.बच्चों की भाषा के आकलन का सर्वाधिक प्रभावी तरीका है-
(1) प्रश्नों के उत्तर देना
(2) प्रश्न पूछना और पढ़ी गई सामग्री पर प्रतिक्रिया व्यक्त करना
(3) श्रुत-लेख
(4) लिखित परीक्षा

Leave a Comment